कोरोना व दंत चिकित्सा पर ऑनलाइन गोष्ठी संम्पन्न

कोरोना व दंत चिकित्सा पर ऑनलाइन गोष्ठी संम्पन्न

कोरोना काल मे रखें दांतों का विशेष ध्यान-डॉ विशाल आर्य

दांतों की नियमित सफाई से अनेक रोगों से बचाव-राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य

गाजियाबाद,सोमवार 13 जुलाई 2020,केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के तत्वावधान में कोरोना व दंत चिकित्सा पर ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन किया गया।यह कोरोना काल मे परिषद का 57वां वेबिनार था।

डेंटल सर्जन डॉ. विशाल आर्य ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि दांत शरीर का अभिन्न अंग हैं।दांतों में समस्या होने से लोग न ढंग से खाना खा सकते हैं और न ही शीतल पेय पदार्थ का सेवन कर पाते हैं।दांतों में होने वाले प्लाक की नियमित रूप से ब्रुश से सफाई करनी चाहिए, ध्यान रखना चाहिए कि ब्रुश द्वारा दांतों के प्रत्येक हिस्से की सफाई ठीक प्रकार से की जाए जिससे पायरिया व अन्य रोगों से बचा जा सकता है।उन्होंने बताया कि नाक व मुँह के माध्यम से ही कोरोना व अन्य वायरस व्यक्ति के शरीर मे प्रवेश करते हैं इसलिए इस समय विशेष रूप से इसकी सफाई का ध्यान रखना चाहिए और जब तक स्थिति सामान्य न हो दंतचिकित्सकों से उपचार कराने से अभी बचें।

केन्द्रीय आर्य युवक परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल आर्य ने कहा कि दांतों की सफाई करने से वे स्वस्थ एवं मजबूत बनते हैं। दांतों को स्वस्थ बनाये रखने के लिए दिन में दो बार सुबह एवं रात को भोजन के बाद मंजन करना चाहिए।मंजन करने वाला ब्रुश मुलायम होना चाहिए।तम्बाकू इत्यादि का प्रयोग नहीं करना चाहिए।प्रति छह माह में दांतों की दंत चिकित्सक से जांच कराते रहना चाहिए।छोटी छोटी सावधानियों को अपना कर आप दांतों को बड़े रोगों से बचा सकते हैं।

प्रान्तीय महामंत्री प्रवीण आर्य ने कहा कि सभी को नियमित ब्रुश करना चाहिए।प्रतिदिन गुनगुने पानी से कुल्ला करना चाहिए।जंक फूड का सेवन कम से कम करें और भोजन करने के बाद ब्रुश अवश्य करें।

वैदिक विद्वान आचार्य गवेन्द्र शास्त्री ने कहा कि दांत स्वस्थ है तो आंत स्वस्थ है।यदि मनुष्य अपने आहार को सही रख ले और अपने दांतों की नियमित रूप सफाई करे तो शरीर भी स्वस्थ रहेगा।

योगाचार्य सौरभ गुप्ता ने गोष्ठी का कुशल संचालन करते हुए कहा कि सफेद और चमकदार दांत पाने के लिए सरसों के तेल के साथ नमक की जगह हल्दी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।इसके लिए आधा चम्मच हल्दी पाउडर में 1 चम्मच सरसों का तेल मिलाएं और इस पेस्ट को दांतों पर उंगलियों की मदद से धीरे-धीरे रगड़ें।इससे दांतो में चमक आएगी और मुँह की दुर्गंध से भी राहत मिलेगी।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए आर्य केंद्रीय सभा के प्रधान लक्ष्मण पाहुजा ने कहा कि इस प्रकार के रचनात्मक कार्यक्रम के आयोजन के लिए परिषद की पूरी टीम को शुभकामनाएं दी।

श्रीमती संगीता आर्या,डॉ रचना चावला,राजश्री यादव,किरण सहगल,वीना वोहरा,मृदुला अग्रवाल,प्रतिभा सपरा,वीरेन्द्र आहूजा,पुष्पा चुघ, देवेन्द्र गुप्ता आदि ने मधुर गीत सुनाये।

प्रमुख रूप से आचार्य महेन्द्र भाई,आनन्द प्रकाश आर्य (हापुड़) सुषमा आर्या,डॉ रमाकांत गुप्ता, विमल पांडेय,सुरेन्द्र शास्त्री,मृदुला चौटानी,गोपाल जैन,पुष्पा शास्त्री, गीता गर्ग,ओम सपरा,ईश आर्य (हिसार) आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: